Tuesday, September 3, 2019

वैदिक भौतिकी के पुनरुत्थान जैसे इस महान् कार्य में किस प्रकार सहयोग कर सकते हैं-


1. सोशल मीडिया पर प्रचार करके
हमारी पोस्ट को विभिन्न वेबसाइट और ऐप्स पर अधिक से अधिक प्रचारित कर सकते हैं।


2. स्वयं आर्थिक सहयोग करके एवं दूसरों से कराके
आप अपने सामथ्र्य के अनुसार एवं न्यास की अनैतिक व्यवसाय से अर्जित धन न लेने की शर्त को ध्यान में रखते हुए हमारी वेबसाइट पर जाकर दान दे सकते हैं और अपने सगे सम्बन्धियों को इस राष्ट्रीय एवं वैदिक यज्ञ में आहुति देने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

3. हमारे साहित्य का प्रचार करके
आप पूज्य आचार्य श्री की अत्यन्त महत्वपूर्ण पुस्तकों (‘वेदविज्ञान-आलोकः’, ‘बोलो! किधर जाओगे?’, ‘मांसाहार - धर्म, अर्थ एवं विज्ञान के आलोक में’, ‘सत्यार्थ प्रकाश उभरते प्रश्न - गरजते उत्तर’, ‘विज्ञान क्या है?’) को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचा कर।


4. वैदिक भौतिकी पर कार्यक्रम आयोजित करा कर 
हमसे सम्पर्क करके अपने आसपास अति प्रबुद्ध, विशेषकर विज्ञान के उच्च स्तरीय छात्रों के मध्य करा सकते हैं।


5. सोशल मीडिया, पत्रिका आदि में हमारे कार्य पर लेख लिख कर
हमारे कार्य को अच्छी तरह से समझकर विभिन्न विषयों पर सरल भाषा में जनसाधारण के लिए सोशल मीडिया एवं पत्रिका आदि में लेख लिख सकते हैं।


6. हमारे कार्य पर वीडियो बनाकर प्रचार करके
हमारे कार्य को अच्छी तरह से समझकर विभिन्न विषयों पर सरल भाषा में जनसाधारण के लिए विडियो बना सकते हैं।


7. बौद्धिक सहयोग दे कर 
नए मौलिक अनुसंधानों की जानकारी अथवा इस अद्भुत कार्य को आगे बढ़ाने हेतु सुझाव हमें मेल द्वारा दे सकते हैं।

8. सरकारी सहायता के लिए प्रयास करके
हमारे कार्य का जानकारी माननीय प्रधानमंत्री महोदय तक पहुँचा कर उनसे इस कार्य के लिए सहयोग और संरक्षण का निवेदन कर सकते हैं।


9. हमारे वेद विज्ञान के अन्तिम लक्ष्य - अर्थात् भारत और विश्व को वेदोक्त आदर्शों पर चला कर सम्पूर्ण मानवजाति के साथ-साथ प्राणिमात्र का कल्याण, में सहयोग के लिए अपने जीवन के एक या अधिक दोषों को त्याग कर और किसी अच्छाई को अपना कर।

10. हमारे सैद्धान्तिक भौतिकी को जनोपयोगी बनाने के लिए इसके आधार पर तकनीक एवं गणित का विकास करने का प्रयास करके।


11. वेद विरोधियों अथवा जिज्ञासुओं को उत्तर देकर
वेदादि शास्त्रों पर हो रहे मिथ्या आक्षेपों अथवा वास्तविक जिज्ञासुओं को, जो भी आपने अबतक समझा है, के आधार पर उत्तर देकर आचार्य श्री का बहुमूल्य समय बचा सकते हैं।



- विशाल आर्य

Related image

#SocialMedia #VaidicPhysics #Donation #Support #Videos #Technology #VaidicScience #SpreadVaidicScience  #Science

No comments:

Recent post